आधुनिक जीवन में पढ़ाई करने के तरीके हिंदी में

आधुनिक जीवन में पढ़ाई करने के तरीके

आधुनिक जीवन में यदि मनुष्य महान बनना चाहता है तो उसे मेहनत और लगन की जरूरत होती है लेकिन अगर वह मेहनत और अपने लक्ष्य के प्रति लगन नहीं रखता तो वह जिंदगी में कभी कुछ हासिल नहीं कर पाएगा

कभी-कभी हमारे दिमाग में उतावलापन आता है की हम खूब लगन और मेहनत के साथ पढ़ाई करें लेकिन होता क्या है कि कभी-कभी 1 2 3 दिन पढ़ने के बाद हम अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ देते हैं

कई बार ऐसा होता चार-पांच दिन का पढ़ाई करने के बाद एक-दो दिन का डिस्टेंस अपनी पढ़ाई में दे देते हैं लेकिन ऐसे  नहीं करना चाहिए बल्कि जितना हो सके दिन प्रतिदिन अपने लक्ष्य के प्रति अग्रसर होते जाएं

खूब मन लगाकर पढ़ाई करनी चाहिए जब हम मन लगाकर पढ़ाई नहीं करते तो हमारा दिमाग इधर-उधर भटकने लगता है और सही रास्ते पर चलते हुए भी हम अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाए थे

इसका यही कारण है कि हम पढ़ाई करते-करते भी अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं यानि हमारा दिमाग पढ़ाई में नहीं होता वैसे तो आजकल यही समस्या है कोई भी विद्यार्थी मन लगाकर पढ़ाई नहीं करता

क्सर ऐसा होता है कि पैरंट्स बच्चों पर दबाव बनाते हैं विद्यार्थी को केवल आपने मन लगाकर पढ़ाई करना चाहिए तभी वह जिंदगी में कामयाब हो पाएगा

कॉलेज हो या स्कूल पढ़ाई तो दोनों में ही होती है लेकिन यह केवल विद्यार्थी पर डिपेंड करता है कि वह अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए मन लगाकर पढ़ाई करें या ना करें कभी-कभी ऐसा भी होता है कि वह पढ़ना तो चाहता है

लेकिन पढ़ नहीं पाता यदि वह अपने दिमाग से सारी बातें निकाल कर केवल पढ़ाई पर ही अपना ध्यान केंद्रित करता है तो वह शायद ही अपने लक्ष्य में कामयाब हो सकता है लेकिन आजकल स्कूल में पढ़ने वाला हो या कॉलेज में पढ़ने वाला हो या किसी भी फील्ड में हो  सब के पास मोबाइल है

आजकल के विद्यार्थियों को व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, टिक टॉक आदि मैं इंटरेस्ट लेते हैं और अपनी पढ़ाई से बिछड़ते जा रहे हैं जब भी हम पढ़ाई करने बैठते हैं तो हमारे दिमाग  को मोबाइल के अलावा और कुछ  सूझता ही नहीं

पढ़ाई करने के तरीके (Padhaee karne ke tarike)

 

पढ़ाई करने के तरीके

 

सबसे पहले विद्यार्थियों को यह पता होना चाहिए कि पढ़ाई करने के तरीके क्या हैं कैसे हम उन्हें फॉलो करें और किस तरह बैठकर हम तैयारी करें तो आज इस लेख के जरिए हम आपको बताएंगे कि कैसे आप अपने पढ़ाई में तालमेल बैठा पाएंगे और मन लगाकर पढ़ाई कर पाएंगे

10वीं और 12वीं पास करने के बाद किया करे?

टाइम टेबल बनाना 

विद्यार्थी की सबसे बड़ी कमी यही होती है कि वह टाइम टेबल नहीं बनाता यदि हम समय के अनुसार ही नहीं पढ़ पाएंगे तो हमें यह नहीं पता चल पाएगा कि कौन सा सब्जेक्ट हमने पढ़ लिया है और

कौन से सब्जेक्ट की तैयारी अच्छे से हो चुकी है और आगे कौन सा सब्जेक्ट पढ़ना है जो हमने अभी तक नहीं पड़ा टाइम टेबल बनाने का सबसे अच्छा तरीका यही है

इसमें हमारा मन भी लगेगा और सभी सब्जेक्ट की तैयारी अच्छे से हो जाएगी कॉलेज हो या स्कूल दोनों में ही टाइम टेबल बनाना अनिवार्य है क्योंकि टाइमटेबल के बिना हम यह नहीं समझ पाएंगे कि हमारा कौन सा सब्जेक्ट हो चुका है और कौन सा रह गया है

नोट्स बनाना

जब भी आप पढ़ाई करने बैठते हो तो आपको पढ़ा हुआ याद नहीं रहता यह आपकी नहीं बल्कि हर विद्यार्थी की समस्या है

यदि आप एक सब्जेक्ट को 2 या 3 घंटे भी पढ़ते हैं तो उसके नोट्स बनाना बहुत जरूरी है ताकि हमें जल्दी ही याद हो जाए जरूरी नहीं है कि नोट्स हमें केवल एक बार में ही काम आएगा बल्कि जब आगे आप जॉब करने के लिए जाएंगे तब भी आप के बनाए हुए नोट्स आपके काम आएंगे

एक तो इससे आपकी टाइम की बचत होगी एग्जाम में यह मददगार भी होगा और इससे जल्दी  ही  आपकी रिवीजन भी हो जाएगी

दोस्तों के साथ स्टडी

 

दोस्तों के साथ स्टडी

 

जब कभी भी स्कूल या कॉलेज में आपका पढ़ने का मन ना करें तो आप अपने दोस्तों के साथ बैठकर स्टडी करें इससे आप बोर भी नहीं होंगे यह आपके लिए एक मददगार टिप्स होगा

जब भी बढ़ाई का मन का ना करें तो दोस्तों के साथ बातें भी करें यदि आप अकेले बैठकर स्टडी कर रहे हैं और आप का मन पढ़ाई में नहीं है तो थोड़ी देर के लिए संगीत सुन लीजिए या डांस कर लीजिए या फिर आप दोस्तों के साथ बातें कर लीजिए

इसके बाद आप स्टडी करने के लिए बैठ जाए इससे आपका मन एकदम स्थिर रहेगा कॉलेज स्कूल में पढ़ाई करते हुए ग्रुप बनाकर ही पढ़ें यदि कोई भी प्रॉब्लम हो तो दोस्तों से डिस्कस कर सकें और जब भी आप दोस्तों से अपनी प्रॉब्लम शेयर करेंगे तो आपको जल्दी ही समझ आएगा

एकांत स्थान

जब भी आप पढ़ाई करने बैठो तो आसपास या देख लेना चाहिए कि कहीं शोर शराबा तो नहीं है यदि आप ऐसी जगह बैठ जाते हैं जहां अधिक शोर शराबा है तो शायद ही आपकी पढ़ाई में रुकावट आने की संभावना हो सकती है

केवल एकांत जगह पर ही बैठ कर पढ़ना चाहिए जहां आपका मन ना भटके और आप अपने पढ़ाई अच्छे से कर सके पढ़ाई के बीच में जितना हो सके मोबाइल का कम प्रयोग करें या फिर अपना फोन बंद कर दे

दोस्तों के साथ भी बातें कम करें और पढ़ाई के प्रति एक दूसरे से डिस्कस कर सकते हैं

नकारात्मक सोच आजकल विद्यार्थियों किस सोच में बहुत ज्यादा नकारात्मक प्रभाव देखा गया है क्योंकि हर समय उनका दिमाग फोन में लगा रहता है Tik Tok पर क्या चल रहा है स्नेक वीडियो पर क्या चल रहा है

यही बातें उनके दिमाग में होती है पढ़ाई पर ध्यान होता ही नहीं है केवल यही बात दिमाग में घूम रही होती है कि आज उन्होंने क्या देखा पढ़ाई के मामले में तो उनकी सोच ना के बराबर है और

आजकल के चल रहे कार्य करने पर ध्यान ज्यादा है और इसी नकारात्मक सोच के जरिए वे अपने लक्ष्य से भटकते जा रहे हैं

विद्यार्थी को अपना फोन स्विच ऑफ कर देना चाहिए जब वह पढ़ाई कर रहा हो  क्योंकि हो आजकल के विद्यार्थियों के बीच की सबसे बड़ी रुकावट है

सभी समस्याओं की जड़ फोन माना गया है  वैसे तो मोबाइल के जरिए आप कभी भी कहीं भी किसी से भी मिल सकते हैं किसी भी चीज की जानकारी ले सकते हैं ऑनलाइन क्लासेज भी ले सकते हैं

लेकिन जब आप पढ़ाई कर रहे हैं तो बीच में फोन का इस्तेमाल ना करें क्योंकि फोन का इस्तेमाल करने से फिर आपका दिमाग भटकने लगता है और आपका ध्यान पढ़ाई में ना होकर  नकारात्मक विचारों पर अधिक जाता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here