क्लास टॉपर कैसे बने? टॉपर बनने के लिए कितने घंटे पढ़ना चाहिए?

कक्षा (Class) में टॉपर कैसे बने? कॉलेज में हो या स्कूल में टॉपर बनने का सपना सब लेते हैं लेकिन कोई कोई अपने इस मकसद में कामयाब हो पाते हैं आज मैं आपको कुछ ऐसे टिप्स बताऊंगा जिससे आप 10 वीं या 12वीं मैं या किसी भी क्लास में टोप कर सकते हैं

टॉपर बनने के लिए बौद्धिक क्षमता नजरिया व्यवहार इन सब का मेल मिलाप जरूरी है तो जानिए क्लास टॉपर कैसे बने और टॉपर बनने के लिए कितने घंटे पढ़ना चाहिए?

क्लास में टॉपर कैसे बने? (Class mein topar kaise bane)

 प्रैक्टिस और रिवीजन

 टॉपर बनने के लिए आपको समय का सबसे अच्छा ज्ञान होना जरूरी है अगर आप कोई चैप्टर पढ़ने के बाद दोबारा दोरहेंगे नहीं, तो आप उसे कुछ दिनों में नहीं तो कुछ घंटों में ही भूल जाएंगे

इसीलिए जो पढ़ा है उसको समय-समय पर रिविजन करना बहुत महत्वपूर्ण है

जिस भी सब्जेक्ट की तैयारी हम करते हैं उस सब्जेक्ट के सैंपल पेपर्स लेना बहुत जरूरी है और आप अपने परीक्षा में तभी सफल हो पाएंगे जब आप ने पहले ही सैंपल पेपर से तैयारी की हो

उन्हें बार-बार रिवीजन किया हो एग्जाम में टॉप बनने के लिए रोजाना प्रैक्टिस और रिवीजन की अहम भूमिका होती है जितनी पढ़ाई आप करेंगे आपकी एग्जाम के लिए उतना ही अच्छा होगा

ये जाने प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन पेंशनयोजना

Mobile में Heating प्रॉब्लम कैसे ठीक करे

Computer में से Virus को Remove कैसे करें

iPhone Real vs Fake Check कैसे करे हिंदी में

VPN क्या है VPN कैसे यूज करें

 रोजाना कक्षा अटेंड करना

 बहुत से विद्यार्थी ऐसे होते हैं जिन्हें कई क्लास अच्छी लगती हैं मगर कोई क्लास बहुत ज्यादा बोरिंग लगती है

यदि आप कक्षा में टॉपर बनना चाहते हैं तो कक्षा को नियमित समय पर अटेंड करें टॉपर बनने के लिए जरूरी नहीं है कि आप अपनी मनपसंद कक्षा को ही अटेंड करें बल्कि हर कक्षा को पूरा महत्व दे

चाहे कोई क्लास कितने भी बोरिंग क्यों ना हो, टॉपर बनने के लिए आपके छोटे से छोटे कंसेप्ट में पकड़ मजबूत होना बहुत जरूरी है यदि आप क्लास अटेंड नहीं करते हैं तो आपकी उस विषय में रुचि कम हो जाएगी और उस सब्जेक्ट में अच्छा मार्क्स नहीं आएंगे

 विषय में रुचि

 टॉपर बनने के लिए आपके हर विषय में विशेष रूचि होनी चाहिए ऐसा नहीं करना चाहिए कि हमारे जिस सब्जेक्ट में रुचि अधिक होती है उस सब्जेक्ट को हम अच्छे से पढ़ लेते हैं

लेकिन जिस सब्जेक्ट में हमारी रुचि बहुत कम होती हैं और बहुत से विद्यार्थी उस सब्जेक्ट को ऐसे ही छोड़ देते हैं लेकिन ऐसा करने से उनकी प्रॉब्लम सॉल्व नहीं होती बल्कि बाद में बहुत कठिनाई होती है

हमें सभी सब्जेक्ट को साथ लेकर चलना चाहिए सभी सब्जेक्ट पर नियमित पढ़ना चाहिए किस सब्जेक्ट को किस वक्त पढ़ना है इसके लिए हमें अपना टाइम टेबल पहले ही बना लेना चाहिए

परीक्षा में कुछ महत्वपूर्ण सवाल पूछे जाते हैं अगर आपको अच्छी तरह से आते होंगे तो सवालों का जवाब देने में आपको कोई तकलीफ महसूस नहीं होगी इसीलिए हर विषय में अपनी पकड़ को मजबूत रखें

इसको भी पढ़े

 नोट्स अवश्य बनाएं

 वर्तमान समय में वैसे तो बाजार में तरह-तरह के नए शॉर्ट नोट क्वेश्चन बैंक इत्यादि उपलब्ध है जिन्हें पढ़कर कोई भी विद्यार्थी 50 से 80% तक मार्क्स ला सकता है

मगर टॉपर नहीं बन सकता इसके पीछे कारण होता है ज्यादातर शार्ट नोट्स से पढ़ाई करने की जानकारी विद्यार्थियों के पास नहीं होती और शॉर्ट नोट में भी परीक्षा की सभी जानकारी उपलब्ध नहीं होती जिसमें महत्वपूर्ण जानकारी और सवाल नहीं पूछे जाते

इसलिए कोई भी विद्यार्थी इन्हें पढ़कर केवल पास हो सकता है लेकिन टॉपर नहीं बन सकता जो अभी हम पढ़ते हैं

अपने किताबों के द्वारा उन्हीं में से ही छांट कर अलग से कॉपी में नोट करने की प्रक्रिया को जारी रखें और जो मेन मेन बातें हैं उन्हें कॉपी में नोट करते रहे

न्यूजपेपर रोजाना पढ़ें जो भी इंपोर्टेंट सूचना आपको मिलती है उसे तुरंत कॉपी में दर्ज करें अगर कोई भी व्यक्ति खुद नोट्स बना कर पढ़ता है तो उसे ज्यादा लंबे समय तक याद रहता है

ज्यादातर टॉपर्स की बात करें तो सब यह मानते हैं कि उन्हें खुद के बनाए हुए नोट्स पढ़ना चाहिए

 ज्यादा ना पढ़ें

 बहुत से बच्चे ऐसे होते हैं पढ़ाई के पीछे पागल होते हैं कक्षा में जाकर बात करते हैं कि मैं तो 16 घंटे भी पढ़ता हूं 17 घंटे में पढ़ता हूं लेकिन यह बिल्कुल गलत तरीका होता है

यदि कोई विद्यार्थी 16 या 17 घंटे पढ़ भी लेता है तो वह उसको कुछ ही दिनों बाद भूल जाता है क्योंकि वह पढ़ तो लेता है लेकिन उसको साथ-साथ रिवीजन या कॉपी में नोट नहीं करता

आपको परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करना है तो आपको मन लगाकर हर विषय में अच्छा प्रदर्शन करना है 16 – 17 घंटे पढ़ने के बाद भी बच्चे टॉपर्स नहीं बन पाते और कोई कोई तो 8 घंटे की पढ़ाई करके भी टॉपर बन जाता है

इसलिए ज्यादा पढ़ाई करने की वजह इफेक्टिव पढ़ाई पर ध्यान दें ज्यादा पढ़ने से आपको ज्यादा समझ में नहीं आएगा बल्कि जो पढ़ा है आप उसको भी भूल जाएंगे

 टीचर से करें पूछताछ

 यदि आपको कोई सवाल नहीं आ रहा है चाहे किसी भी विषय से संबंधित हो उस सवाल को आप अपने टीचर से अपने दोस्तों से डिस्कस जरूर करें यदि आपको किसी सवाल में परेशानी महसूस हो रही है तो

आप उसको हल प्रश्नपत्र में देख सकते हैं लेकिन फिर भी आपको समझ में नहीं आ रहा है तो उसको अलग से कॉपी में नोट करें और अपने टीचर से मदद लें इससे आपको अच्छे से समझ आएगा

किसी भी कक्षा की परीक्षा देने से पहले आप अपना क्लास टीचर से किसी भी प्रकार का डिस्कस कर सकते हैं जिसमें आप प्रॉब्लम महसूस कर रहे हैं

टॉपर बनने के लिए कितने घंटे पढ़ना चाहिए?

class toppar kaise bane in hindi

 टॉपर्स का मानना है कि बेहतर पढ़ाई के लिए सिर्फ पढ़ाई जरूरी नहीं पढ़ाई के दौरान दिमाग को रिलैक्स करना भी जरूरी है दिमाग को फ्रेश रखने के लिए या तो आप टीवी देख सकते हैं या

नोबेल पढ़ सकते हैं इसके अलावा भी अन्य गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं पढ़ाई के दौरान नोबेल पढ़ना अच्छा होता है

इसे दिमाग तो ताजा होता ही है और साथ ही साथ आगे की पढ़ाई में भी आपका मन लगेगा बेहतरीन रिजल्ट के लिए परीक्षा के दौरान 10 से 12 घंटे पढ़ने से अच्छा है

हर दिन तीन-चार घंटे रेगुलर स्टडी करें इससे भी हमारा रिजल्ट बहुत अच्छा आएगा हर दिन 3 से 4 घंटे की पढ़ाई काफी है बेहतरीन परिणाम के लिए रेगुलर रहे

इसको भी पढ़े

यह भी पढ़िए:

Leave a Comment