World के सबसे पहले और बड़े कैमरे का इतिहास Hindi Me

world ka sabse bada camera aur uska etihas hindi me

जब से मोबाइल का चलन शुरू हुआ है मानो Camera तो एक आम बात बन चुका है। अब आपको Camera हर मोबाइल में देखने को मिल जाता है । चाहे आप ₹2000 का मोबाइल यूज करते हो, चाहे आप ₹100000 का मोबाइल यूज करते हो। आइए जानते हैं आखिर दुनिया के सबसे पहले और बड़े कैमरे का इतिहास क्या है?

कैमरे का इतिहास

Camera एक प्रकाशीय युक्ति है जिसकी सहायता से कोई स्थिर फोटोग्राफ या मूवी या विडियो खींचा जा सकता है। Camera शब्द लैटिन भाषा के ऑब्स्क्योरा शब्द से आया है जिसका अर्थ अंधेरा कक्ष।
इसका आविष्कार ईराकी वैज्ञानिक इब्न-अल-हज़ैन (1051-1021) ने किया। इसके बाद अंग्रेज वैज्ञानिक राबर्ट बॉयल एवं उनके सहायक राबर्ट हुक ने सन 1660 के दशक में एक पोर्टेबल Camera विकसित किया।

सन 1885 में जोहन जान (Johann Zahn) ने ऐसा Camera विकसित किया जो पोर्टेबल था और तस्वीर खींचने के लिये व्यावहारिक था।

World Ka Sabse Bada Camera

दुनिया के सबसे पहले और बड़े कैमरे के बारे में जानकर आप चौक जायेंगे क्योंकि इस कैमरे को चलाने के लिए 15 लोगों की आवश्यकता पड़ी थी सन 1900 में जॉर्ज नाम के व्यक्ति ने दुनिया के सबसे बड़े कैमरे का आविष्कार किया था।

इस कैमरे का आविष्कार ओल्टन ट्रेन की फोटो खींचने के लिए किया गया था, क्योंकि यह ट्रेन उस समय की सबसे बड़ी Train थी। इस कैमरे से जो भी फोटो लिया जाता था उसका साइज 8×4.5 फिट था।

इस कैमरे को बनाने के लिए $5000 की कीमत लगी थी, जोकि इंडियन रुपीस में 362800 आज इसकी कीमत रुपए होती है।

इसे भी पढ़े  >> दुनिया में सबसे बड़ा ट्रेक्टर कौन सा है

जिसके बारे में आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इसकी कीमत उस जमाने में क्या होती होगी तो यह थी दुनिया के सबसे बड़े कैमरे के बारे में जानकारी जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते है।

Conclusion

आज के आर्टिकल में मैंने आपको बताया है दुनिया के सबसे पहले और बड़े कैमरे के इतिहास के बारे में यह जानकारी आपको कैसी लगी। आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here