3D Printer

    « Back to Glossary Index

    3D प्रिंटर आपकी इमेज या किसी ऑब्जेक्ट के चित्र को सही रूप से स्पष्ट करता है इसके द्वारा आप जिस भी वस्तु का डिजाइन लेना चाहते हैं उस तरह का डिजाइन यह प्रिंटर आपको देगा वैसे तो इस टेक्नोलॉजी के बारे में बहुत कम लोगों ने ही सुना है रियल वस्तु की तरह चीजों को 3D प्रिंटर कर सकता है तो चलिए अब हम बात करते हैं 3D प्रिंटर के बारे में

    3D प्रिंटर क्या होता है

     यह एक ऑब्जेक्ट प्रिंट करने वाली मशीन होती है जिसके जरिए प्रिंट करने के लिए एक प्रोसेस किया जाता है जिससे एडिटिव प्रोसेस कहा जाता है इसमें किसी भी वस्तु या ऑब्जेक्ट का 3D सॉलि़ड ऑब्जेक्ट बना जा सकता है

    इसको बनाने के लिए ऑब्जेक्ट को कई लेयर में रखा जाता है उसको तब तक रखा जाता है जब तक कोई वस्तु या ऑब्जेक्ट उस पर प्रिंट ना हो जाए आप इसे अपने आंखों से भी देख सकते हैं

    इसमें आप किसी भी ऑब्जेक्ट की सेम कॉपी कर सकते हैं आधुनिक युग में यह प्रिंटिंग बहुत जल्दी लोकप्रिय हो चुकी है

    परिभाषा

    यह ऐसी प्रिंटिंग प्रक्रिया होती है जिसमें एक डिजिटल फाइल के द्वारा तीन डायमेंशन वाले सॉलिड ऑब्जेक्ट को तैयार किया जाता है यह प्रिंटर कप से लेकर प्लास्टिक के खिलौने तक के मैटल, मशीन पार्ट्स, पत्थर का फूलदान, फैंसी चॉकलेट केक यहां तक की मानव शरीर के अंगों के लिए भी बहुत कुछ बना सकता है यह प्रिंटिंग एक बहुत कठिन आकार वाली वस्तु को भी चित्रित कर सकता है

    3D Printer Ka Upyog

    इसका प्रयोग आधुनिक युग में इंजीनियर, ऑटोमेटिव,रोबोटिक्स, इंडस्ट्रियल टूल, हेल्थ केयर, प्रोडक्ट डिजाइन, एंटरटेनमेंट, एजुकेशन एरिया आदि में किया जाता है

    आप चाहे तो इस का उपयोग कॉलेज स्कूल या किसी भी कंपनी वगैरह में कर सकते हैं क्योंकि यह एक ऐसी मशीन है जो आधुनिक युग में बहुत प्रचलित हो चुकी है लेकिन

    इसकी कीमत बहुत ज्यादा है इसलिए इसको इंजीनियर बड़ी-बड़ी कंपनियों में ही यूज किया जाता है

    3D Printer Kisne Banaya

    यह एक अलग तरह की टेक्नोलॉजी है जिसे जापान में खोजा गया था 1983 में इसकी खोज हुई थी इस के जन्मदाता का नाम चक हल है चक हल एक इंजीनियर थे

    उन्होंने सबसे पहले 3D Printer की खोज की और उन्होंने सबसे पहले इसमें एक इमारत का चित्र डिजाइन किया था और वह इमारत बोस्टन की कंपनी एपिस को डिजाइन किया था और इसको बनाने के लिए उन्होंने इस प्रिंटर का इस्तेमाल किया था

    Price/Cost

    यदि आप इस प्रिंटर को खरीदना चाहते हैं तो आपको अलग-अलग प्राइस पर यह मिल जाता है लेकिन अगर आप इसके फीचर और इसको कार्य की बात करें तो वे सब अलग-अलग होते हैं उन्हें के आधार पर आपको इसकी कीमत देखनी पड़ती है

    यदि आप इसे ऑनलाइन मंगवाते हैं तो आप अपने हिसाब से इसकी कीमत रख सकते हैं वैसे तो Rs10,000 से लेकर Rs80,000 तक के प्रिंटर आपको मिल जाएंगे

    Kam Kaise Karta Hai

     3D प्रिंटर मैं आप सबसे पहले अपना कंप्यूटर में सीडी प्रोग्राम के द्वारा ऑब्जेक्ट को क्रिएट करते हैं और स्कैन किया जाता है कंप्यूटर प्रोजेक्ट बनने के बाद आप उसका प्रिंट 3D प्रिंटर में प्रिंट करते है इस प्रिंटर में एक फिलामेंट लगा होता है जो कि अलग-अलग मटेरियल की होती है

    जैसे कार्बन, फाइबर, फिलामेंट, वुड मेटल आदि इसमें फिलामेंट का ही मुख्य कार्य होता है यह फिलामेंट एक ड्राईव से जुड़ा होता है यह ड्राइव उस फिलामेंट को खींचकर हॉट एंड में बदलती है इसके बाद मटेरियल फिलामेंट पिंघला कर बाहर निकलते हैं और वह प्रिंट बोर्ड पर ऑब्जेक्ट की लेयर बनाते हैं इस प्रकार उस सब्जेक्ट का प्रिंट हो जाता है

    3D Printer Ke Fayde

    यह मशीन काफी तेज है जो कार्य हमने मशीन 8 या 10 महीने में करती है वहीं यह मशीन 8 या 10 हफ्ते में कर सकती है लार्ज रेंज का होना यानि एक अलग मटेरियल के लिए इस Printer के पास एक अलग रेंज है जो हमें अलग-अलग प्रॉपर्टी वाली वस्तुएं देती रहती है इस प्रिंटर में कोई स्पेशलाइज टूलिंग की आवश्यकता नहीं होती इस के द्वारा आप को सस्ती और सुंदर वस्तु के डिजाइन आसानी से मिल सकते हैं वह भी कठिन आकार वाले जो अन्य मशीन आपको नहीं दे सकती

    « Back to Glossary Index