सोलह सोमवार व्रत, कथा, विधि, पूजा पाठ की पूरी जानकारी हिंदी में

solah somavaar vrat, katha, vidhi, pooja paath kee pooree jaanakaaree hindi mein

यह व्रत शिव भगवान को खुश करने के लिए रखा जाता है इस व्रत को संकट सोमवार व्रत भी कहते हैं यह व्रत श्रावण मास की शुक्ल पक्ष के महीने में आने वाले पहले सोमवार से रखा जाता है Es व्रत को हम श्रावण, चैत्र, वैशाख, मार्गशीर्ष महीने के पहले सोमवार से रख सकते हैं यह व्रत श्रावण सोमवार व्रत से अलग व्रत होता है

Solah Somavaar Vrat Kab Se Start Karana Chaahie?

सोलह सोमवार व्रत कब से स्टार्ट करना चाहिए?

यह व्रत शिव को प्रसन्न रख करने के लिए रखा जाता है यह व्रत श्रावण, चैत्र, वैशाख, कार्तिक और मार्गशीर्ष महीने में पहले सोमवार से शुरू करना सबसे अच्छा रहता है

यह व्रत पूरी निष्ठा और श्रद्धा से रखा जाता है यह व्रत रखने से शिव जल्द ही प्रसन्न होकर मनवांछित फल देते हैं यह व्रत सबसे कठिन व्रत है

Solah Somavaar Ke Vrat kese kare

सोलह सोमवार के व्रत kese kare

यह व्रत सुबह सूरज उगने से पहले उठकर बालों को अच्छी तरह से धोकर इसके बाद स्नान करना चाहिए इसके बाद स्वच्छ कपड़े पहनने चाहिए अपनी सुविधानुसार मन्दिर में जाकर शिवजी की पूजा पूरी विधि-विधान से करनी चाहिए सफेद चंदन, सफेद फूल, धतुरा, पंचामृत और गंगाजल आदि से शिव – पार्वती , गणेश और कार्तिकेय की पूजा करनी चाहिए

Solah Somavaar Ki Pooja Kaise Karen?

सोलह सोमवार की पूजा कैसे करें?

सूर्योदय से पहले उठकर पानी में काले तिल डालकर स्नान करने के बाद शिव की पूजा करनी चाहिए शिव की पूजा करने के बाद शिवजी का अभिषेक जल या गंगाजल से करना चाहिए

विशेष मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए दूध, दही, घी, शहद, सरसो का तेल आदि सामग्रियों से भी शिवजी का अभिषेक करने की विधि प्रचलित है

Solah Somavaar Ke Vrat Mein Kya Khaana Chaahie?

सोलह सोमवार के व्रत में क्या खाना चाहिए?

सोलह सोमवार के व्रत में सूर्यास्त के बाद प्रसाद ग्रहण करने से पहले आप दिन में एक बार मूंगफली या मखाने का सेवन कर सकते हैं सोलह सोमवार के व्रत में कूट्टू का आटा, सिंघाड़े के आटे से बना खाना और चौलाई के लड्डू खा सकते हैं

इसके अलावा दिन भर आपको पानी बार-बार पीते रहना चाहिए ताकि शरीर में पानी की कमी ना आ पाए और साथ ही साथ आपको दिनभर भगवान शिव का ध्यान करके ओम नमः शिवाय का जाप करते रहना चाहिए

Somavaar Ke Din Kya Nahin Karana Chaahie?

सोमवार के दिन क्या नहीं करना चाहिए?

सोमवार के दिन उत्तर, पूरब और आग्नेय दिशा में भूलकर भी यात्रा नहीं करनी चाहिए यह व्रत करने वाले व्यक्ति को दोपहर में नहीं सोना चाहिए और

इसे इस दिन कोई भी सफेद कपड़ा और दूध का दान नहीं करना चाहिए सोमवार को किसी भी प्रकार से कुलदेवता का अपमान नहीं करना चाहिए

Solah Somavaar Ke Vrat  Kee Vidhi

सोलह सोमवार के व्रत की विधि

यह व्रत श्रावण माह के शुक्ल पक्ष में आने वाले पहले सोमवार से किया जाता है इस दिन वर्ती को सूर्योदय से पहले उठकर स्नानादि से निवृत्त होकर शिवलिंग पर जल व दूध चढ़ाकर पूजा करके शिवजी के सामने सोलह सोमवार व्रत करने का संकल्प लें

इसके बाद पूरे दिन अन्न , जल ग्रहण नहीं करना चाहिए शाम को आधा सेर गेहूं के आटे का चूरमा बनाकर शिवजी की पूजा करें पूजा में हमें बेलपत्र, आंकड़े के फूल और धतूरा आदि अर्पित करने चाहिए

चूरमा भगवान शिव जी को चढ़ा कर और फिर इस प्रसाद के तीन भाग करें एक भाग प्रसाद के रूप में लोगों में बांट दें दूसरे भाग को गाय को खिलाएं और तीसरे भाग को स्वंय खाकर पानी पिएं इस विधि को सोलह सोमवार को करें

Solah Somavaar Ke Vrat Ka Udhapan Kaisai Karai

सोलह सोमवार के व्रत का उद्यापन कैसे करना चाहिए

सोलह सोमवार के व्रत पूरा होने के बाद 17वें सोमवार के दिन व्रत का उद्यापन करना चाहिए उद्यापन किसी पंडित के द्वारा ही करवाना चाहिए यह उद्यापन उसी समय करना उचित रहता है

जिस समय आप प्रत्येक सोमवार को पूजा करते थे 16 सोमवार के व्रत के उद्यापन में सवा किलो आटे का प्रसाद चढ़ाना चाहिए प्रसाद को तीन भागों में बांट कर तीसरा भाग स्वंय खाना चाहिए

सत्रवें सोमवार को 5 सेर गेहूं के आटे का चूरमा बनाकर भोग लगाकर प्रसाद बांट दें सोलह सोमवार व्रत के उद्यापन मैं 16 जोड़ें स्त्री पुरुष को भोजन कराते हैं

द्यापन करने के बाद सफेद वस्तुओं का दान करना चाहिए

Solah Somvar Vrat Aarti

सोलह सोमवाव्रत की आरती

Solah Somvar Vrat Aarti in Hindi

Solah Somvar Vrat Ke Fayade

यह व्रत पूरी श्रद्धा और निष्ठा के साथ रखने से मनोवांछित फल मिलता है इस व्रत को करने से आर्थिक स्थिति भी मजबूत होती है

यदि कोई स्त्री संतान की चाह रखकर इस व्रत को करती है तो उसकी भी मनोकामना पूरी होती है अविवाहित लड़कियों के लिए यह व्रत बहुत ही अच्छा ‌होता है

इस व्रत को करने से लड़कियों को उत्तम वर मिलता है सोलह सोमवार के व्रत को कोई भी रखकर अपनी मनोकामना पूरी कर सकता है

Solah Somvar Vrat Katha

सोलह सोमवार व्रत कथा

Solah Somvar Vrat Katha pdf

डाउनलोड सोलह सोमवार व्रत कथा पीडीऍफ़ इन हिंदी यहाँ पर क्लिक करे

पीडीऍफ़ डाउनलोड कैसे करे How to Download PDF 

Solah Somvar Vrat Katha Ki Vidhi

सोलह सोमवार व्रत में हमें कथा सुबह पूजा करने के समय करनी चाहिए और शाम को भी हमें कथा पूजा करने के समय करनी चाहिए अगर किसी कारणवश आप सुबह कथा नहीं कर पाते हैं तो शाम को अवश्य पूजा करनी चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here